Hindu word origin reality in hindi – जानिये हिन्दू शब्द की उत्पत्ति का क्या है रहस्य

Hindu word origin reality in hindi  – जानिये हिन्दू शब्द की उत्पत्ति का क्या है रहस्य

हिन्दू – Hindu  शब्द अरबी लुटेरो का दिया हुआ नहीं है। जब भी हिन्दू – Hindu  शब्द की चर्चा होती है तो कथित बुद्धिजीवी यही कहता है कि ”सिंधु से हिन्दू – Hindu ” हुआ, अरबी लुटेरे ”स” हो ”ह” कहते थे इस लिए सिंधु को हिन्दू – Hindu  कहने लगे। दरअसल अरबी लुटेरे जब सिंधुनदी को पार किया तो इसे ”सिंधुस्तान” कहा जो उच्चारण में* ‘हिन्दुस्तान” हो गया जबकि ये गलत है ।

Diamond Necklace With Drop Earrings Set for Women and Girls

हिन्दू – Hindu  शब्द का उल्लेख वेद (ved) और पुराणो में पहले से ही मौजूद है

  1. ऋग्वेद के बृहस्पति आगम में हिन्दू – Hindu शब्द का उल्लेख इस प्रकार आया है……

हिमलयं समारभ्य यावत इन्दुसरोवरं

तं देवनिर्मितं देशं हिन्दुस्थानं प्रचक्षते।।

(अर्थात् हिमालय से इंदु सरोवर तक देव निर्मित देश को हिंदुस्तान कहते हैं )

  1. सिर्फ वेद (ved) ही नहीं……बल्कि..मेरुतंत्र ( शैव ग्रन्थ ) में हिन्दू – Hindu शब्द का उल्लेख इस प्रकार किया गया है…..

हीनं दूष्यतेव् हिन्दुरित्युच्च ते प्रिये।

( अर्थात्… जो अज्ञानता और हीनता का त्याग करे उसे हिन्दू – Hindu  कहते हैं )

  1. और इससे मिलता जुलता लगभग यही यही श्लोक कल्पद्रुम में भी दोहराया गया है…….

   “हीनं दुष्यति इति हिन्दू – Hindu  

( अर्थात् जो अज्ञानता और हीनता का त्याग करे उसे हिन्दू – Hindu  कहते है। )

Fabulous Glittery Gold Plated Austrian Diamond Necklace Set For Women and Girls

  1. पारिजात हरण में हिन्दू – Hindu को कुछ इस प्रकार कहा गया है….

 “हिनस्ति तपसा पापां दैहिकां दुष्टं

हेतिभिः श्त्रुवर्गं हिन्दुर्भिधियते ।।

(अर्थात् जो अपने तप से शत्रुओं का दुष्टों का और पाप का नाश कर देता है वही हिन्दू – Hindu  है )

  1. माधव दिग्विजय में भी हिन्दू – Hindu शब्द को कुछ इस प्रकार उल्लेखित किया गया है……..

ओंकारमन्त्रमूलाढ्य पुनर्जन्म द्रढ़ाश्य:

गौभक्तो भारतगरुर्हिन्दुर्हिंसन दूषकः ।।

( अर्थात्…. वो जो ओमकार को ईश्वरीय धुन माने कर्मों पर विश्वास करे, गौपालक रहे तथा बुराइयों को दूर रखे वो हिन्दू – Hindu  है )

  1. केवल इतना ही नहीं हमारे ऋग्वेद ( ८:२:४१ ) में विव हिन्दू – Hindu नाम के बहुत ही पराक्रमी और दानी राजा का वर्णन मिलता है जिन्होंने 46,000 गौमाता दान में दी थी और ऋग्वेद मंडल में भी उनका वर्णन मिलता है।

7- ऋग् वेद (ved) में एक ऋषि (Rishi) का उल्लेख मिलता है जिनका नाम सैन्धव था जो मध्यकाल में आगे चलकर “हैन्दव/हिन्दव” नाम से प्रचलित हुए, जिसका बाद में अपभ्रंश होकर हिन्दू – Hindu  बन गया।

गर्व से कहे हम हिन्दू – Hindu  हैं।

Fashionable and Trendy Charm Bracelet Butterfly and Glass Beads

,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *