वो मनहूस लड़की – लघुकथा – Woh Manhoos Ladki – Ek Chotti si Kahani

वो मनहूस लड़की – लघुकथा – Woh Manhoos Ladki – Ek Chotti si Kahani

वो अठाइस साल की बहुत ही बदसूरत और काली लड़की (ugly and black girl) थी दाँत भी निकले थे पर उसे अपने रंग और बदसूरती का जरा भी अफ़सोस (no guilty) नही था।हमेशा खुश रहती और एक नंबर की पेटू और पढ़ने लिखने में महाभोंदू (study) भी थी ।

Golden Peacock Zircon and Alloy Bangles Pack of 4 for Women and Girls

पेटू होने की वजह से शरीर भी बेडौल (ugly body) हो गया था।एक खूबी उसमें यह भी थी की जहाँ रहती हो हो हो कर हँसते मुस्कुराते (always smiling) रहती और सबको भी हँसाते रहती।

उस नेक दिल लड़की (beautiful heart girl) का एक शौक भी था, खाना बनाने का, खूब मन से खाना बनाती। बड़े चाव से मसाला पिसती।खाना बनाने की किताबे खूब ध्यान (reading books) लगा कर पढ़ती ।टीवी रेडियो पे भी पाक कला के प्रोग्राम (program) को बड़े मनोयोग से देखती सुनती,

उसे कोई भी खाना (food making) बनाना होता तो बड़े प्रेम से बनती।आटा गूँथती ,बड़े प्यार से गीत गुनगुनाते हुए कम आँच (low flame) पे पूरियाँ तलती।सब्जी चटनी खीर हो या मटर पनीर सब कुछ (delicious dishes) लाजबाब बनाती।जो भी उसके खाने को टेस्ट (taste) करता बिना तारीफ किये ना रहता।उसने पाक कला में अद्भुत और असाधारण प्रतिभा (incredible talent) हासिल कर ली थी।

पर वह मनहूस थी उसके काले रंग और बदसूरत (ugly) होने से कोई उसे प्यार न करता था पर माँ उसे बहुत प्यार (love) करती थी।आज तक माँ ने उसे डाँटा तक नही था और वह भी माँ (mother) से बहुत प्यार करती थी।

Graceful and Elegant Gold Plated Austrian Diamond Necklace Set For Women and Girls

हर बार की तरह आज सुबह भी उसकी शादी (marriage) के लिए जो लोग आये थे उन सबो ने खाने की बहुत तारीफ की लेकिन लड़की (girl) को देखकर नाक मुँह सिकोड़कर चले गए।

वह लड़की (girl) भी तैयार होकर किसी को बिना कुछ बताये कहीं चली गयी। शाम में जब वो लौटी तो घर का माहौल बहुत (panic atmosphere) गरम था।

पिता (father) जी माँ पे बहुत गुस्सा थे बोल रहे थे पता नही कौन से पाप के बदले ये मनहूस लड़की मिली। पिता से प्रायः यह सुब सुनती थी उससे उसे कोई असर (no effect) न होता था।

वह बहुत खुश खुश (happily) माँ को कुछ बताने गई और कहा ” बड़ी भूख लगी है कुछ खाने को दो पहले” ,

उसके हाथों में एक सर्टिफिकेट (certificate) और एक चेक भी था, पर माँ भी आज बहुत गुस्से में सब्जी काट (cutting vegetables) रही थी उसके तरफ देखे बिना ही बोली “तू सचमुच मनहूस है काश पैदा लेते ही मर जाती तो आज ये दिन (this day) ना देखना पड़ता। पचासों रिश्तों आये किसी ने तुझे पसंद न किया “।

उस मनहूस लड़की (unlucky girl) को माँ से ऐसी आशा ना थी उसका दिल बैठ गया और उसकी ख़ुशी उड़ गई और उदास (sad) होकर माँ से बोली ” मैं सचमुच मनहूस हूँं माँ क्या मैं मर जाऊँ?” बोलते बोलते उसका गला रुंध गया और चेहरा लाल (red face) हो गया।

माँ ने भी गुस्से (angry) में कहा “जा मर जा सबको चैन मिले”।

मनहूस लड़की (unlucky girl) ने अपने कमरे में जाकर दरवाजा बंद कर लिया।

थोड़ी देर बाद जैसे ही माँ को अपनी गलती का अहसास (feel her mistake) हुआ वो दौड़ती हुई उसके कमरे के तरफ गयी।आवाज़ देने पर भी दरवाजा (door) जब नही खुला तो माँ ने जोर का धक्का दिया।

Handcrafted Wedding Designer Gold Plated Golden Kundan and Pink Pearl Metal Indian Earrings

तेज धक्के से जैसे ही दरवाज़ा खुला (open door) माँ ने देखा सामने दुपट्टे के सहारे जीभ बाहर निकले उस मनहूस काली लड़की की लाश झूल (her body was hanging) रही थी

वही पर एक चिट्ठी, सर्टिफिकेट और एक लाख का चेक (cheque of one lakh rs.) रखा था ।

चिट्ठी में लिखा था” माँ मैंने आज तक तुम्हारा कहना माना है आज तुमने मरने को बोला ये भी मान रही अब तुम मनहूस लड़की (unlucky girl) की माँ नही कहलाओगी।

मैंने पढ़ने की बहुत कोशिश (tried hard to study) की पर मेरे दिमाग मे कुछ जाता है नहीं, पर भगवान ने मुझे ऐसा बनाया इसमें मेरा क्या कसूर। मुझे सबने काली मनहूस भोंदू (black unlucky stupid) सब कहा मुझे बुरा न लगा पर तुम्हारे मुँह से सुनकर मुझे बहुत बुरा (feel bad) लगा, मेरी प्यारी माँ और हां आज नेशनल लेवल (national level) के खाना बनाने वाली प्रतियोगिता में मुझे फर्स्ट प्राइज (first prize) और एक लाख रूपए का चेक मिला और साथ में फाइव स्टार होटल (five star hotel) में मास्टर शेफ की नौकरी भी।

और पता है माँ आज मेरी जिंदगी की सबसे खुशी का दिन था (happiest day of my life)  क्योंकि पहली बार वहाँ सबने मुझे कहा था

देखो ये है कितनी भाग्यशाली लड़की (lucky girl).

Imported Fashionable Women and Girls Excellent Design Pearls Flower and Stone Work 3 Color Ring for any Occasion

, , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *